Ransomware क्या है और यह कैसे काम करता है

Ransomware एक malware होता है जो victim के कंप्यूटर के डाटा को encript कर देता है |
उसके बाद साइबर क्रिमिनल फिर से उस डाटा को restore करने के लिए काफी बड़ी रकम फिरौती
के रूप में मांग करता है |

Ransomware कैसे काम करता है

ransomware कई तरिके से काम करता है , लेकिन इनमे सबसे पॉपुलर तरीका phishing है |
phishing में साइबर क्रिमिनल यूजर के कंप्यूटर में ईमेल के माध्यम से attachment भेजता है |
यूजर अगर उस attachment को अपने कंप्यूटर में खोलता है तो उस कंप्यूटर का डाटा encript
हो जाता है | अगर यूजर अपने कंप्यूटर का कोई डाटा एक्सेस करना चाहेगा तो उसे permission key लेना
देना होता होगा और वो permission key उस साइबर क्रिमिनल के पास होता है |

फिर attacker उस कंप्यूटर के ओनर से permission key देने के लिए जितनी चाहे उतनी रकम मांग सकता है
और अगर यूजर नहीं देता है तो उसके कंप्यूटर एक सारा डाटा ऑटोमेटिकली नष्ट हो जयेगा |

ये कंप्यूटर हैकिंग का एक प्रकार है जो बड़ी-बड़ी बिज़नेस कंपनी को स्कूल, अस्पताल इन सब
को टारगेट करता है |

किसी भी कंप्यूटर के डाटा को एन्क्रिप्ट करने के लिए encryption ransomware सबसे
समान्य और आसान तरीका है | कोई फाइल ईमेल के साथ भेजना और अगर यूजर उस फाइल
को डाउनलोड करता है और फाइल डाउनलोड करते ही कंप्यूटर का हैक हो जाना कितना आसान है |

Ransomware के कई प्रकार हैं | अलग-अलग तरीका का इस्तेमाल कर के यूजर के कंप्यूटर को
हैक कर उससे पैसे की डिमांड की जाती है |

Types of Ransomware-

  • phishing
  •  NotPetya
  • Doxware

phishing क्या होता है

जैसा की ऊपर के परग्राफ में हम phishing के बार में जान चुके हैं | phishing एक प्रकार
ईमेल स्पैम होता है जो यूजर के ईमेल पे एक अटैचमेंट के साथ भेजा जाता है |
अगर यूजर उस ईमेल अटैचमेंट को डाउनलोड करता है और अपने कंप्यूटर में खोलता है तो
यूजर का कंप्यूटर हैक हो जाता हैक हो जाता है |

मतलब उस कंप्यूटर का फाइल एन्क्रिप्ट हो जाता है | यूजर अपने कंप्यूटर का फाइल नहीं देख सकता है
उसके लिए उसे पासवर्ड की आवश्यकता होती है और वो पासवर्ड साइबर attaker के पास होता है |
अब साइबर क्रिमिनल उसी ईमेल से उस यूजर से संपर्क करता है और मनचाहे रकम की डिमांड करता है |
अगर कंप्यूटर यूजर उसके डिमांड किये गए रकम को फिरौती के रूप में जमा आकर देता है तो फिर यूजर
को पसावर्ड दे दिया जाता है |

और अगर यूजर पैसे देने से मना करता है तो कंप्यूटर का डाटा नष्ट हो जाता है | बिना उस पासवर्ड के
कंप्यूटर फाइल को खोलना एकदम से मुश्किल होता है |

 NotPetya क्या होता है

Petya और NotPetya ये दोनों से मैलवेयर का प्रकार है जो पूरी दुनिया में एक साल में हजारों कंप्यूटर
को affect किया है |
Petya और NotPetya दोनों कंप्यूटर के हार्ड ड्राइव को ही एन्क्रिप्ट कर देता है | NotPetya काफी ज्यादा
एडवांस्ड मैलवेयर टूल है जो कंप्यूटर को बिलकुल बुरे तरिके से एफेक्ट करता है |
ये यूजर के कंप्यूटर के मास्टर डाटा को एन्क्रिप्ट कर देता है और कंप्यूटर स्क्रीन पे फिरौती के रूप में
बिटकॉइन डिमांड का मैसेज फ़्लैश करता है |

जब यूजर पेमेंट करता है तब उसे उसके कंप्यूटर को एक्सेस करने की परमिशन दे दी जाती है |

Doxware क्या होता है

Doxware भी Ransomware का एक प्रकार है इस में अटैकर कंप्यूटर यूजर के पर्सनल डाटा को
लीक करने की धमकी डेट है | इसी लिए इसको leakware भी बोला जाता है |
इस प्रकार की हैकिंग में हैकर के पैसा यूजर के कंप्यूटर का एक्सेस होता है और पर्सनल डाटा का
कॉपी होता है और फिर यूजर से फिरौती डिमांड की जाती है |

रैंसमवेयर सबसे ज्यादा किसको निशाना बनाता है?

रैंसमवेयर अटैकर्स किसी को भी निशाना बना सकता है | वैसे ज्यादातर बड़ी इंडस्ट्री को नुकशान
पहुँचाने के लिए या फिर स्कूल या कॉलेज से बड़ी रकम फिरौती के रूप में लेने के लिए अटैकर्स स्कूल,
कॉलेज को भी निशाना बनाते हैं |

इसका ये बिलकुल मतलब नहीं है की कोई इंडिविजुअल कंप्यूटर यूजर इस तरह के अटैक से सुरक्षित
है | दुनिया में काफी ज्यादा हैकर्स है कुछ छोटे लेवल पे काम करते है तो कुछ की हैकिंग एजेंसी है |
जो छोटे लेवल पे काम करते हैं वो छोटे लेवल का अटैक करते हैं और इंडिविजुअल को टारगेट करते हैं |
इसी लिए इस तरह के अटैक से प्रत्येक कंप्यूटर यूजर को सुरक्षित रहना जरूरी है |

ransomware से कैसे बचें

Ransomware से बचने के लिए आपको अपने कंप्यूटर के ऑपरेटिंग सिस्टम को अपडेट
रखना जरुरी है |

अपने कंप्यूटर में कोई भी सॉफ्टवेयर या एप्लीकेशन इनस्टॉल करने से पहले उसकी जाँच अवश्य
कर लें की उस सॉफ्टवेयर से होता क्या है और उसका source क्या है |

अपने कंप्यूटर में antivirus सॉफ्टवेयर (Norton, McAfee,Avast,Panda Dome) जरुर रखें जो

आपके कंप्यूटर के मैलवेयर को डिटेक्ट कर सके |

और सबसे इम्पोर्टेन्ट अपने कंप्यूटर के फाइल का बैकअप external हार्ड ड्राइव में जरूर रख लें ताकि
अगर भविष्य में आपके कंप्यूटर को वायरस से नुकसान पहुँचता है तो कंप्यूटर का डाटा आपके
पास सुरक्षित हो |

किसी भी suspisious और असुरक्षित वेबसाइट को विजिट न करें और कोई फाइल डाउनलोड न करें |

अगर आपके ईमेल पे कोई अनजान source से ईमेल आता है और उसके साथ कोई अटैचमेंट है तो उसको
खोलने से पहले ईमेल कहाँ से आया है और वो प्रमाणित है या नहीं इसकी जाँच अवश्य कर लें |

ईमेल spam फोल्डर में स्पैम मेल रहता है उस फोल्डर के सभी ईमेल को बिना खोले डिलीट कर दें |

ये कुछ टिप्स का इस्तेमाल कर के Ransomware से सुरक्षित रह सकते हैं |

पोस्ट आपको कैसा लगा निचे कमेंट बॉक्स में अपना फीडबैक जरूर दें !

ये भी देखें:

Dark web क्या होता है

1 thought on “Ransomware क्या है और यह कैसे काम करता है”

Leave a comment

Close Bitnami banner
Bitnami