CBI Full Form in Hindi | सीबीआई का फुल फॉर्म क्या होता है

CBI Full FormCentral Bureau of Investigation(CBI) होता है |

सीबीआई भारत के केंद्र सरकार के अधीन सबसे बड़ी जाँच एजेंसी हैं |
जब भी कोई बड़ा केस होता है जिसमे केंद्र सरकार को हस्तक्षेप करना परता है तो उसमे देश की
सबसे बड़ी जाँच एजेंसी सीबीआई को लगाया जाता है |

सीबीआई को काफी सारे अतिरिक्त अधिकार मिले हुए हैं जैसे वो भारत के कसी भी राज्य में जा कर जाँच
कर सकती है और सीबीआई जाँच एजेंसी पे लोगों का भरोसा ज्यादा होता है क्यों की सीबीआई निष्पक्ष
जाँच के लिए जानी जाती है |

CBI Full Form in Hindi सीबीआई को हिंदी में क्या कहते हैं ?

सीबीआई को हिंदी में केंद्रीय जाँच ब्यूरो कहा जाता है |

CBI Full Form In Hindi केंद्रीय जाँच ब्यूरो

सभी देशों की अपनी-अपनी केंद्रीय जाँच एजेंसी होती है वैसे ही भारत की केंद्रीय जाँच एजेंसी
सीबीआई है जो केंद्र सरकार और राज्य सरकार के सहमति से किसी भी राज्य के गंभीर मामलों में
हस्तक्षेप कर सकती है |

सीबीआई राष्ट्रीय ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय मामलों को भी देखती है | किसी बड़े नेता या एक्टर एक्ट्रेस की
हत्या के मामलों में या भी भरस्टाचार जैसे गंभीर मामलों में सीबीआई ही उस केस को संभालती
है |

किसी राज्य के अगर कोई ऐसे मामले हैं जिनमे उस राज्य के लोगों द्वारा या बड़ी हस्तियों द्वारा व्यवधान
उत्पन्न किया जाता है तब सीबीआई को केस सौंप दिया जाता है और सीबीआई उस केस को संभालती है |

अगर राज्य सरकर किसी मामलों में सीबीआई को हस्तक्षेप नहीं करने से रोकती है या असहमति प्रदान
करती है तो सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीआई डायरेक्ट उस मामलों की जाँच कर सकती है |

History of CBI in Hindi सीबीआई का इतिहास क्या है हिंदी में जाने

सीबीआई को विशेष पुलिस प्रतिष्ठान के नाम से भारत सरकार द्वारा युद्ध और आपूर्ति विभाग के साथ लेन-देन में
घूसखोरी और भ्रष्टाचार की जांच करने के लिए 1941 में स्थापित किया गया था | ऐसा नहीं है की अभी ही
घूसखोरी होती है | पहले भी घूसखोरी होती थी और उसको देख रेख करने के लिए और जाँच करने के लिए
विशेष पुलिस के नाम से इस इन्वेस्टीगेशन ब्यूरो को स्थापित किया गया था |
बाद में नाम बदल कर इसे सीबीआई कर दिया गया |

सीबीआई को जिस समय स्थापित किया गया था उस समय इसका नाम Special Police Establishment
था | सीबीआई सबसे ज्यादा निष्पक्ष जाँच एजेंसी के रूप में जाना जाता है और आज भी जब कोई मामला
पेंचीदा लगता है या फिर जिसमे निष्पक्ष जाँच की उम्मीद नहीं दिखती है उस मामलों को सीबीआई को
सौप दिया जाता है |

सीबीआई पे लोगों का है सबसे ज्यादा भरोसा

चुकी सीबीआई केंद्र से ऑपरेट होती है इसी लिए उसके ऊपर दबाब बनाना बड़ी-बड़ी हस्तियों के लिए
मुश्किल हो जाता है | आम आदमी का आज भी सीबीआई पे सबसे ज्यादा भरोसा है और ये जाँच एजेंसी लोगों
के उम्मीदों पे खरा भी उतरती है |

कई ऐसे बड़े नेता और अभिनेता हैं जिसको सीबीआई ने बड़े बड़े मामलों को खंगाल कर कर और जुर्म साबित होने
के अब्द जेल में भिजवाया है |
अगर को मामला अंतरार्ष्ट्रीय हो जाती है तो सीबीआई विदेशों में जाकर भी मामलों की जाँच करती है और वहां से
भी अपराधी को पाकर कर ले आती है |

CBI Directors (1963–2001)

निचे उन सभी सीबीआई डायरेक्टर्स की सूचि दी गई है जो इस बड़े जाँच एजेंसी में ak director के रूप में
अपना सेवा दे चुके हैं |

D. P. Kohli 1 April 1963 31 May 1968
F. V. Arul 31 May 1968 6 May 1971
D. Sen 6 May 1971 29 March 1977
S. N. Mathur 29 March 1977 2 May 1977
C. V. Narsimhan 2 May 1977 25 November 1977
John Lobo 25 November 1977 30 June 1979
Shri R. D. Singh 30 June 1979 24 January 1980
J. S. Bajwa 24 January 1980 28 February 1985

M. G. Katre 28 February 1985 31 October 1989
A. P. Mukherjee 31 October 1989 11 January 1990
R. Sekhar 11 January 1990 14 February 1990
Vijay Karan 14 February 1990 14 February 1990
S. K. Datta 14 February 1990 31 July 1993
K. V. R. Rao 31 July 1993 31 July 1996
Joginder Singh 31 July 1996 30 June 1997
R. C. Sharma 30 June 1997 31 January 1998
D. R. Karthikeyan (acting) 31 January 1998 31 March 1998
T. N. Mishra (acting) 31 March 1998 4 January 1999
R. K. Raghavan 4 January 1999 1 April 2001

CBI Directors (2001–present)

P. C. Sharma 1 April 2001 6 December 2003
U. S. Misra 6 December 2003 6 December 2005
Vijay Shanker Tiwari 12 December 2005 31 July 2008
Ashwani Kumar 2 August 2008 30 November 2010
A. P. Singh 30 November 2010 30 November 2012
Ranjit Sinha 3 December 2012 2 December 2014
Anil Sinha 3 December 2014 2 December 2016
Rakesh Asthana (Special Director) 3 December 2016 Present (on leave)
Alok Verma 1 February 2017 10 January 2019
M. Nageshwar Rao (interim) 24 October 2018 1 February 2019
Rishi Kumar Shukla 2 February 2019 2 February 2021
Praveen Sinha (interim) 2 February 2021 Present

CBI Full Form बोलने में ज्यादा क्यों इस्तेमाल नहीं होता है ?

जैसा की जानते हैं लोग हर चीज का शार्ट-कट निकालते हैं इसी लिए CBI का Full Form काफी
बड़ा नाम होने के वजह से इस्तेमल नहीं किये जाते हैं | अब हर वक़्त बोलने में Central Bureau of Investigation
का इस्तेमाल करना थोड़ा सा मुश्किल होता है इसी लिए इसका शार्ट फॉर्म CBI ज्यादा बोलने में इस्तेमाल होता है |

और CBI Full Form ज्यादा चलन में न होने के वजह से काफी लोगों को इसका फुल फॉर्म नहीं पता होता है |

इस तरह हमने इस पोस्ट के माध्यम से सीबीआई फुल फॉर्म और सीबीआई फॉर्म इन हिंदी दोनों
जाना उसके साथ ही सीबीआई का काम क्या है ? सीबीआई के क्या के अधिकार हैं इन सब चीजों के बारें
में जाना |

ये भी देखें :

साइबर क्राइम में ठगा गया पैसा वापिस नहीं आ पाता है क्यों ?

4 thoughts on “CBI Full Form in Hindi | सीबीआई का फुल फॉर्म क्या होता है”

  1. One thing I have actually noticed is that often there are plenty of common myths regarding the banks intentions any time talking about foreclosed. One myth in particular would be the fact the bank would like your house. The lender wants your dollars, not the home. They want the bucks they lent you together with interest. Preventing the bank will only draw a new foreclosed realization. Thanks for your posting.

    Reply
  2. In these days of austerity and relative anxiety about getting debt, lots of people balk against the idea of using a credit card to make acquisition of merchandise or even pay for any occasion, preferring, instead just to rely on a tried as well as trusted technique of making repayment – cash. However, if you’ve got the cash available to make the purchase in full, then, paradoxically, that is the best time to be able to use the card for several causes.

    Reply

Leave a comment

Close Bitnami banner
Bitnami